October 16, 2021

चिकित्सा पदाधिकारियों को सर्वाइकल कैंसर से बचाव के लिए डॉ रेणु भारती ने दिया प्रशिक्षण , 3 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला किया शुभारंभ

 

रिपोर्ट – कौस्तुभ कुमार मलयज बोकारो झारखंड

सदर अस्पताल बोकारो के सभागार में वीआईए विजुअल इंस्पेक्शन विथ एसिटिक एसिड पर जिले के विभिन्न प्रखंडों से आए महिला चिकित्सा पदाधिकारियों का तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला हुआ शुभारंभ । जिसमें कुल 15 महिला चिकित्सा पदाधिकारियों ने भाग लिया । बोकारो सदर अस्पताल की उपाधीक्षक सह प्रशिक्षक डॉ रेणु भारती के द्वारा सर्वाइकल कैंसर के विषय पर विस्तार से जानकारी दी गई एवं वीडियो के माध्यम से जांच करने की विधि बताई गई । डॉ रेणु भारती ने बताया जन जागरूकता की कमी से इस बीमारी की शुरुआत होती है और ध्यान नहीं देने के कारण यह गंभीर स्थिति में पहुंच जाती है उपचार में देरी और बीमारी को छुपाने से यह बीमारी जानलेवा साबित होती है ऐसी स्थिति से निपटने के लिए चिकित्सा पदाधिकारियों एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को अपनी महती भूमिका ईमानदारी के साथ निर्वाह करनी होगी विजुअल इंस्पेक्शन विद एसिटिक एसिड पर आधारित स्क्रीनिंग प्रशिक्षण मे जिले के विभिन्न प्रखंडों से आए महिला चिकित्सा पदाधिकारियों को महिलाओं में होने वाले सर्वाइकल कैंसर के लक्ष्ण जांच की जानकारी देते हुए प्रशिक्षक डॉ रेणु भारती ने बताया की गर्भाशय ग्रीवा का एक निचला हिस्सा लक्षणों में पीरियड के दौरान और संभोग के बाद रक्तस्राव शामिल होता है । मुंह से बदबूदार सफेद निर्वहन और कम पीठ दर्द या पेट के निचले हिस्से में दर्द भी हो सकता है । यदि प्रारंभिक अवस्था में इसका निदान हो जाए तो सर्वाइकल कैंसर अक्सर ठीक हो जाता है । मुख्य रूप से इन लक्षणों में रजोनिवृत्ति के बाद रक्तस्राव , सहवास के बाद रक्तस्राव , योनि से रक्तस्राव , योनि से अत्यधिक श्वेत प्रदर , पेट एवं कमर के निचले भाग में दर्द और अनियमित मासिक धर्म । महिलाओं में होने वाले सर्वाइकल कैंसर के कारण – कम उम्र में विवाह , बार-बार गर्भपात एवं प्रसव , मासिक धर्म संबंधी स्वच्छता का अभाव एवं बहुगामिता । साथ ही उन्होंने बताया की सर्वप्रथम सामुदायिक स्वास्थ्य पदाधिकारी अपने अपने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर 30 वर्ष से ऊपर सभी महिलाओं का वीआईए विजुअल इंस्पेक्शन विद एसिटिक एसिड स्क्रीनिंग किया जाएगा एवं सर्वाइकल कैंसर के लक्षण होने पर उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अथवा सदर अस्पताल रेफर किया जाएगा । जिले के विभिन्न प्रखंडों से आए चिकित्सा पदाधिकारियों का इस तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला के शुभारंभ पर प्रमुख रूप से बोकारो सदर अस्पताल उपाधीक्षक सह प्रशिक्षक डॉक्टर रेणु भारती , डॉ शोभा सिन्हा , डॉक्टर आयुषी सिंह , डॉक्टर आयुषी जयसवाल , सुदीप्ति कुमारी , डॉ अनीता किसकु , डॉक्टर निरोज जोजो , डॉ प्रीति , डॉक्टर नजमा खातुन , डॉक्टर पूनम सिंह , डॉ अनीता मुर्मू , रोजी शंकर आदि उपस्थित रहे ।

Visits: 84 Total Visitors: 68534

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *