Monday, March 4, 2024
anticorruptsystem
Homeसमाचारफिरोजाबाद :- माउथ ब्लोइंग कारखानों में श्रमिकों की हड़ताल समाप्त

फिरोजाबाद :- माउथ ब्लोइंग कारखानों में श्रमिकों की हड़ताल समाप्त

फिरोजाबाद। बुधवार को दैनिक मेहनताना में बढ़ोत्तरी की मांग को लेकर शुरू हुई माउथ ब्लोइंग और हेडलाइट कारीगरों की हड़ताल बृहस्पतिवार को आपसी समझौता के बाद समाप्त हो गई। सहायक श्रमायुक्त की अध्यक्षता में हुई त्रिपक्षीय वार्ता के दौरान हेडलाइट कारीगरों के दैनिक मेहनताना में 16 रूपये और माउथ ब्लोइंग कारीगरों के मेहनताना में 18 रूपये दैनिक मेहनताना बढ़ाने पर सहमति बनी। वार्ता में सेवायोजक, श्रमिक संगठन और हड़ताली कांच कारीगरों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

 

गत दिवस दैनिक मेहनताना में बढ़ोत्तरी की मांग को लेकर शहर के माउथ ब्लोइंग और हेडलाइट निर्माण कारीगरों ने कामबंद हड़ताल कर दी थी। 2000 से अधिक कांच कारीगरों की काम बंद हड़ताल के चलते शहर के सात माउथ ब्लोइंग कारखानों में उत्पादन प्रक्रिया ठप हो गई थी। माउथ ब्लोइंग कारखानों में कामबंदी की भनक लगते ही सहायक श्रमायुक्त ने बृहस्पतिवार को श्रमिक संगठन, हड़ताली कारीगरों और सेवायोजकों की संयुक्त बैठक बुलाई। लंबी बैठक के दौरान सेवायोजकों की ओर से हेडलाइट कारीगरों के दैनिक मेहनताना में 16 रूपये की बढ़ोत्तरी और माउथ ब्लोइंग कारीगरों के मेहनताना में 18 रूपये अथवा प्रति अड्डा 260 रूपये की बढोत्तरी पर सहमति जताई।

सेवायोजकों द्वारा दिये प्रस्ताव को श्रमिक संगठन और हड़ताली कारीगरों ने भी सहमति जताई। इसी के साथ ही सहायक श्रमायुक्त अरुण कुमार सिंह ने एक दिन पुरानी हड़ताल को समाप्त होने की पुष्टि की। त्रिपक्षीय वार्ता में सेवायोजकों की ओर से उद्यमी प्रमोद कुमार गर्ग, पराग कुलश्रेष्ठ, प्रसून अग्रवाल, अभिषेक मित्तल चंचल और आशीष गुप्ता, श्रमिक संगठन की ओर से सीटू के भूरी सिंह यादव के अलावा हड़ताली कांच कारीगर मौजूद रहे। वहीं बैठक के उपरांत सहायक श्रमायुक्त ने श्रमिक पक्ष से भविष्य में किसी मांग के संबंध में अचानक हड़ताल नहीं किये जाने की बात कही।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments